इलाहाबाद : अखिल भारतीय किसान मजदूर संगठन के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कौशांबी जनपद के चायल तहसील में प्रदर्शन किया। इसके बाद राज्यपाल को संबोधित नौ सूत्रीय ज्ञापन एसडीएम को सौंपकर समस्या के निराकरण की मांग की।

अखिल भारतीय किसान मजदूर संगठन के जिला अध्यक्ष बच्ची लाल की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इसके बाद एसडीएम जितेंद्र श्रीवास्तव को नौ सूत्रीय ज्ञापन देते हुए बताया कि खेती में विदेशी और औद्योगिक कंपनियों में दलालों के हस्तक्षेप पर रोक लगाई जाए। सभी किसानों और मजदूरों के सभी कर्ज माफ किए जाएं। खाद, बीज, कीटनाशक, दवा, मशीनरी, डीजल और बिजली के दाम आधे किए जाएं। सभी फसलों की कुल लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित हो।

गांव में मनरेगा में सभी बेरोजगारों को काम दिया जाए। मजदूरों की मजदूरी 500 रुपये की जाए। सी¨लग की सीमा घटाई जाए और अतिरिक्त भूमि पर गरीबों व भूमिहीनों को खेती और आवासीय पट्टे दिए जाएं। यमुना नदी में बालू खनन करने वाले नामों का पंजीकरण किया जाए। रवन्ना माझियों को दिया जाए और जेसीबी से सूखी बालू का अवैध खनन पर रोक लगाई जाए। दलितों का उत्पीड़न बंद किया जाए और इनके आवास व खेती से बेदखल न किया जाए। किसानों और मजदूरों पर दर्ज सभी फर्जी मुकदमों की निष्पक्ष जांच कराकर उसमें आरोपी लोगों के बयान दर्ज कर मुकदमे वापस लिए जाएं। एसडीएम ने ज्ञापन लेकर आश्वासन दिया कि उनकी समस्याओं का जल्द से जल्द शासन को अवगत कराकर निराकरण कराया जाएगा। प्रदर्शन में मूलचंद निषाद, खलील अहमद, जुनैद अहमद, श्रीकृष्ण, पताली, राजेंद्र कुमार, राजा भैया, निर्मला देवी, कलावती देवी, अनारा देवी, बुधनी देवी, रामलाल, विमला देवी और दुर्गा देवी मौजूद रही।

By Jagran