राजकुमार श्रीवास्तव, इलाहाबाद: कुंभ के कार्यो की जांच और निगरानी के लिए थर्ड पार्टी का चयन पहले ही कर लिया गया है, लेकिन नगर निगम प्रशासन ने अब निगम की ओर से कराए जा रहे कार्यो की जांच के लिए 10 सदस्यीय कमेटी अलग से गठित की है। खास यह कि टीम में ऐसे अधिकारी शामिल किए गए हैं जो नॉन टेक्निकल हैं।

जनवरी 2019 में संगम नगरी में लगने वाले कुंभ मेले के मद्देनजर निगम सड़कों, गलियों, नालियों-नालों, रैन बसेरों आदि का निर्माण करा रहा है। पांचों जोन क्षेत्रों में इन कार्यो का दायित्व जोनल (अधिशासी) अभियंताओं पर है। कार्यो को कराने के लिए समय सीमा भी तय की गई है। लेकिन इन कार्यो का प्रतिदिन निरीक्षण एवं जांच करने के लिए जोनवार टीमें गठित की गई हैं। नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने इस संबंध में 18 जुलाई को आदेश जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि टीमें जोनल अभियंताओं के साथ स्थलीय निरीक्षण कर गुणवत्ता का परीक्षण करते हुए अपर नगर आयुक्त को आख्या देंगे। अपर नगर आयुक्त को टीमों का प्रभारी बनाया गया है। नगर आयुक्त ने जोनल अभियंताओं के साथ टीमों के निरीक्षण के लिए भले कहा है, लेकिन सवाल उठ रहा है कि कहीं कोई खामी होगी तो टीमें उसे कैसे पकड़ पाएंगी, क्योंकि टीम में टेक्निकल एक्सपर्ट नहीं हैं। जोनल अभियंता तो अपनी गड़बड़ी बताएंगे नहीं।

जोनवार गठित टीम में ये हैं शामिल

जोन एक खुल्दाबाद के लिए उप नगर आयुक्त आरडी बाजपेई और मुख्य वित्त एवं लेखाधिकारी सत्यानंद श्रीवास्तव, जोन दो मुट्ठीगंज के लिए मुख्य कर निर्धारण अधिकारी पीके मिश्र और मुख्य नगर लेखा परीक्षक जंग बहादुर यादव की टीम बनी है। जोन तीन कटरा के लिए सहायक नगर आयुक्त ओम प्रकाश, कर निर्धारण अधिकारी संजय ममगई, जोन चार अल्लापुर के लिए मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. लवकुश और नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. अरुण और जोन पांच नैनी के लिए धीरज गोयल पशु चिकित्सा एवं कल्याण अधिकारी और कर निर्धारण अधिकारी महेंद्र प्रताप की टीम गठित की गई है।

By Jagran