अलीगढ़ : पूर्व मीडिया सलाहकार डॉ.जसीम मोहम्मद के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर सोमवार को दोपहर बाद छात्रों ने बाइक रैली निकाली और जमकर नारेबाजी की। प्रॉक्टर और छात्रों के बीच गहमा-गहमी हुई। छात्र ज्ञापन प्रॉक्टर को नहीं देने और कुलपति से मुलाकात की जिद पर अड़ गए। छात्रों के गुस्से के चलते प्रशासनिक ब्लॉक का मुख्य दरवाजा बंद कर दिया गया। हंगामे के बीच छात्र और प्रॉक्टोरियल टीम के बीच तीखी नोकझोंक हुई। काफी देर तक चले हंगामे के बाद छात्रों के प्रतिनिधि मंडल की मुलाकात कुलपति से हो गई। छात्रों ने अपने गुस्से का इजहार किया और कुलपति को मांगों से संबंधित ज्ञापन दिया।

तय कार्यक्रम के अनुसार एएमयू में जसीम के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष नदीम अंसारी के नेतृत्व में छात्र बाइक पर लाइब्रेरी के पीछे केंटीन पर इकट्ठा हो गए। यहां से नारेबाजी करते हुए छात्र बॉबे सैयद गेट पर पहुंचे। यहां प्रॉक्टर मोहसिन टीम के साथ पहुंच गए और ज्ञापन देने के लिए कहा, लेकिन छात्र ज्ञापन कुलपति को देने की जिद पर अड़ गए। इसके बाद छात्र नारेबाजी करते हुए एएमयू प्रशासनिक ब्लॉक के मुख्य दरवाजे पर पहुंच गए। इंतजामिया द्वारा गेट बंद कर दिए जाने पर जमकर हंगामा हुआ।

बताते चलें कि नौ जुलाई को एएमयू के जनसंपर्क कार्यालय से पूर्व मीडिया सलाहकार एवं पत्रकार डॉ.जसीम मोहम्मद को बाहर निकालने के मामले में पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष नदीम अंसारी व आठ-नौ युवकों के खिलाफ जानलेवा हमले की रिपोर्ट दर्ज करा दी गई थी। इसके बाद से ही छात्रों का गुस्सा बढ़ता गया। रविवार को ट्विटर पर अब्दुल वासे, मिसवाह कैसर व इमरान मैग्नेटिक आदि द्वारा की गई अपील में कहा गया था कि पत्रकार मोहम्मद जसीम पर हमेशा के लिए एएमयू में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया जाए।

By Jagran