सरकार के दावों का जवाब देने कांग्रेस नेता भी उतरेंगे मैदान में

सरकार के दावों का जवाब देने कांग्रेस नेता भी उतरेंगे मैदान मेंसरकार के दावों का जवाब देने कांग्रेस नेता भी उतरेंगे मैदान में कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि सरकार उपलब्धियों को लेकर अपने मुंह मियां मिठ्ठू बन रही है।

नई दिल्ली, न्यूज़ ऑनलाइन ब्यूरो। एनडीए सरकार की तीन साल की उपलब्धियों के राष्ट्रीय स्तर पर मनाए जाने वाले जश्न का जवाब देने के लिए कांग्रेस के नेता भी देश भर में मीडिया से रुबरू होकर सरकार के दावों को गलत साबित करने का अभियान चलाएंगे। कांग्रेस के मुताबिक सरकार के विकास के दावों और हकीकत में भारी विरोधाभास है। पार्टी के अनुसार दो करोड़ रोजगार हर साल देने के वादे के विपरीत हर रोज हजारों लोगों की नौकरियां छीन रही है और अच्छे दिन की कोई सूरत नहीं दिख रही।

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि सरकार उपलब्धियों को लेकर अपने मुंह मियां मिठ्ठू बन रही है। जबकि हकीकत में हर दिन हजारों लोगों को निजी क्षेत्र से पिंक शिल्प देकर नौकरियों से बाहर किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा चुनाव के दौरान दिए बयानों का जिक्र करते हुए सिंघवी ने कहा कि भाजपा के घोषणा पत्र में भी दो करोड लोगों को हर साल रोजगार देने का वादा किया है। मगर बीते साल केवल 1.35 लाख नौकरियां ही सरकार उपलब्ध करा पायी है। बीते तीन साल का आंकड़ा भी बेहद दयनीय है। उनका कहना था कि नौकरियों के सृजन में एनडीए के मुकाबले यूपीए का रिकार्ड काफी बेहतर था।

सरकार के जश्न को मोदी फेस्ट यानि मेकिंग ऑफ ऑफ डेवलपिंग इंडिया का नाम देने पर कटाक्ष करते हुए सिंघवी कहा कि औद्योगिक उत्पादन दर आधा फीसद है। बैंक क्रेडिट विकास दर 63 साल में सबसे कम 5.3 फीसद है। उन्होंने कहा कि बैंक क्रेडिट के इस कम दर से साफ है कि मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर प्रगति नहीं कर रहा जिसकी वजह से नौकरियां मिलने की बजाय छीन रही हैं। इसी तरह आठ कोर सेक्टर क्षेत्र जिसमें निर्माण, पर्यटन, बुनियादी ढांचा, परिवहन आदि की विकास की रफ्तार केवल 1.1 फीसद है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकार चाहे हजारों करोड रुपए खर्च कर देश भर में जश्न मनाए पर इन तथ्यों से साफ है कि विकास की मौजूदा गति में नौकरियां है ही नहीं। उन्होंने बताया कि सरकार के हर क्षेत्र में दावों का जवाब देने को कांग्रेस के नेता देश भर में अलग-अलग शहरों में जाकर प्रेस कांफ्रेंस कर अच्छे दिन के वादों की असली हकीकत से जनता को रुबरू कराएंगे।

यह भी पढ़ें: चेन्नई में विपक्षी नेताओं के जमावड़े की राहुल करेंगे अगुआई