आईसीआईसीआई बैंक ने ब्याज दरें 0.05 फीसदी घटाईं, दिखा आरबीआई के फैसले का असर

आईसीआईसीआई बैंक ने ब्याज दरें 0.05 फीसदी घटाईं, दिखा आरबीआई के फैसले का असर

Normal
0

false
false
false

EN-US
X-NONE
HI

MicrosoftInternetExplorer4

/* Style Definitions */
table.MsoNormalTable
{mso-style-name:”Table Normal”;
mso-tstyle-rowband-size:0;
mso-tstyle-colband-size:0;
mso-style-noshow:yes;
mso-style-priority:99;
mso-style-qformat:yes;
mso-style-parent:””;
mso-padding-alt:0in 5.4pt 0in 5.4pt;
mso-para-margin-top:0in;
mso-para-margin-right:0in;
mso-para-margin-bottom:10.0pt;
mso-para-margin-left:0in;
line-height:115%;
mso-pagination:widow-orphan;
11.0pt;
mso-bidi-10.0pt;
font-family:”Calibri”,”sans-serif”;
mso-ascii-font-family:Calibri;
mso-ascii-theme-font:minor-latin;
mso-hansi-font-family:Calibri;
mso-hansi-theme-font:minor-latin;}

नई दिल्ली: आरबीआई की तरफ से रेपो रेट में की गई कटौती के बाद अब देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक आईसीआईसीआई ने ब्याज दरों में 0.05 फीसदी की कटौती कर दी है। बैंक की तरफ से ब्याज दरों में कटौती का यह कदम उर्जित पटेल की पहली मौद्रिक समीक्षा बैठक की घोषणा के ठीक एक घंटे बाद उठाया गया। गौरतलब है कि आरबीआई ने रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है जिसके बाद अब रेपो रेट 6.50 फीसदी से घटकर 6.25 फीसदी हो गई है।

कटौती के बाद अब

तीन महीने के कर्ज पर अब ब्याज दर 8.85 फीसदी और एक साल के लिए यह 9.10 फीसदी से घटकर 9.05 फीसदी पर आ गई है।

हाल ही में संशोधित किए गए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिग रेट्स (एमसीएलआर) को वित्त वर्ष 2016 में ही लागू कर दिया गया है। इसके तहत अब आईसीआईसीआई बैंक से जुड़े नए और पुराने दोनों तरह के ग्राहकों को फायदा होगा। सभी नए फ्लोटिंग रेट लोन को अब एमसीएलआर से जोड़ दिया गया है।